Author: Parikshit Jobanputra

The Complete Business Guide on Motivational Speaker / Life Coach

The Complete Business Guide on Motivational Speaker / Life Coach

The Complete Business Guide on Motivational Speaker / Life Coach

2016 Global Coaching Study के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 53,300 Motivational Speaker / Life Coach है।

Life Coaching का industry एक वर्ष में Rs 15,100 Crores का अनुमान लगा रहा है, और अगले कुछ वर्षों में स्वस्थ गति के साथ बढ़ने के लिए तैयार है।

Motivational Speaker / Life Coach लोगों को उनके लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करता है जो उन्होंने स्वयं के लिए निर्धारित किए हैं|

If you’ve ever considered becoming a Motivational Speaker / Life Coach, now is the perfect time to start.

However, before you jump in, आपको उस से परे जाने की ज़रूरत होगी, आपको उन बुनियादी व्यावसायिक पहलुओं को निर्धारित करने की ज़रूरत है जिनकी आपको ज़रूरत है, जैसे कि आपके Skills, Certifications, Price List and More.

In this guide you’ll find the following sections

  1. What is life coaching?
  2. The Pros & Cons of Life Coaching
  3. The Business Basics
  4. Your clients
  5. Summary

[1] What is Life Coaching?

In a general way, जैसा हमने उल्लेख किया है, life coaching दूसरों के goals तक पहुंचने में मदद करने के बारे में है। यह उनके लिए उन goals को setting करने के बारे में नहीं है, बल्कि उन लोगों की मदद करने के लिए strategic तरीके खोजने के बारे में है।

Specifically, कई अलग-अलग प्रकार के life coaching हैं|

In fact, because life coaching किसी को goals हासिल करने में मदद कर रहा है, यह इसलिए है क्योंकि लोग खुद को कई अलग-अलग प्रकार के goals को set करते हैं, और उन्हें प्रत्येक में Help की आवश्यकता हो सकती है।

There are six major life coaching areas to be aware of, however:

1. Personal coaching

Personal coaching लोगों के विचारों में से एक है जब वे Life Coaching के बारे में सुनते हैं। Personal coaching में clients को संतुलन प्राप्त करने में मदद करने की कोशिश करते हुए coaching के लिए एक समग्र दृष्टिकोण लगता है। इसका मतलब है कि वे client’s career, relationships, spirituality, priorities, productivity, habits, and many more, और उन सभी पर या विशेष रूप से ध्यान देते हैं|

2. Career coaching

Most career coaches टीमों या व्यक्तियों के साथ काम करते हैं और उन्हें careers ढूंढने में मदद करते हैं।

ये Motivational Speaker / Life Coach client’s के interests, passions और skills का निर्धारण करने के लिए अच्छे हैं और उनका प्रयोग career के साथ match करने के लिए है जो clients को पसंद आएगा।

3. Business Coaching

Business coaching का उद्देश्य Entrepreneurs को business में Success होने के लिए अपने आप को विकसित करने में मदद करना है।

यह Business coaches अपने branding, mission, उनके audience का निर्धारण करने और clients के business के लिए एक strategic vision बनाने में मदद कर सकते हैं।

4. Executive Coaching

Executive coaches को company executives पर ध्यान केंद्रित करने के लिए, उन सभी पहलुओं में सहायता करने के लिए, जिनके लिए company executives को सहायता की आवश्यकता हो सकती है|

यह delegation, planning, productivity, leadership, public speaking हो सकते हैं।

5. Health Coaching

Health coach, people or groups of people की शारीरिक क्षमता बढ़कर उनकी जीवन शैली में सुधार लाना होता है।

यह Health coach अक्सर their diets, workout routines और self-care में बदलाव शामिल करता है, लेकिन इसमें कई अन्य बदलाव भी शामिल हो सकते हैं। Health coach, spirituality, confidence, self-esteem भी शामिल कर सकते हैं|

6. Relationship Coaching

Relationship coaching individuals and couples को उनके रिश्तों को बेहतर बनाने में मदद करता है। couples के लिए, इसका आम तौर पर communication, intimacy में सुधार लाने पर काम करना होता है|

Singles के लिए, यह एक पार्टनर खोजने, रिश्ते के लिए तैयार करने और अन्य महत्वपूर्ण विशेषताओं में सहायता कर सकता है।

[2] The Pros & Cons of Life Coaching

It’s important that, इससे पहले कि आप Motivational Speaker / Life Coach में गहराई से जाएं, हम Motivational Speaker / Life Coach के Advantages and Disadvantages का अवलोकन करते हैं।

1. The Advantages of Motivational Speaker / Life Coach

There are many advantages to being a Motivational Speaker / Life Coach, much more than the usual Advantages.

  • Work for yourself

Motivational Speaker / Life Coach बनने का पहला और संभवत: सबसे बड़ा Advantage यह है कि आप खुद के लिए काम करेंगे| इसका मतलब है कि आपको 9-से-5 के काम के हाथों से पीसने से बचने का अवसर मिलता है।

आपको अपने दिन के साथ क्या करना है, आप किस clients से काम करना चाहते हैं, और जब आप vacation के लिए break लेना चाहते हैं, उसके बारे में फैसला करने की स्वतंत्रता होगी। जब आप अपने सपने में हों तो आप Skype के माध्यम से भी काम कर सकते हैं।

  • Help make a difference in people’s lives

दूसरा Advantage संभवत: सबसे बड़ा है: आप अपने जीवन में एक अंतर करके लोगों की मदद करने के लिए मिलते हैं|

आप शुरूआत में उनके साथ रहें, जब वे अपने Goals और abilities के बारे में अनिश्चित हैं, संघर्ष के माध्यम से, और अंत में सफलता के लिए। इसके अलावा, प्रत्येक client अलग है, इसलिए आपके पास अपने काम में बहुत सी विविधताएं होंगी।

  • Have high income potential

एक अन्य लाभ यह है कि आप संभावित रूप से बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं|

For example, एक अध्ययन के अनुसार, Motivational Speaker / Life Coach average पर $ 233 [Rs 15000] per hour कमाते हैं! यह बहुत बड़ा है, और यह कि केवल Average पर है, जिसका अर्थ है कि इसमें कुछ Motivational Speaker / Life Coach की तुलना में बहुत कम है, लेकिन कुछ भी बहुत ज्यादा हैं। No Certification Requirements

Lastly, आप अभी भी learning करते समय, teaching शुरू कर सकते हैं।

Because of the industry, Motivational Speaker / Life Coach को certification की आवश्यकता नहीं होती है और कोई regulation नहीं होता है| in actuality, आप बिना किसी training के Motivational Speaker / Life Coach बनना Start कर सकते हैं, और वहां से experience और clients का निर्माण कर सकते हैं।

2. Disadvantages of Motivational Speaker / Life Coach

  • Major Responsibilities

First of all, कई Motivational Speaker / Life Coach व्यवसाय में सर्वश्रेष्ठ नहीं हैं। उनके पास amazing interpersonal skills है और उन्होंने कई लोगों को मदद की है।However, वे खुद को market कैसे करें वो नहीं जानते हैं, और उनका business suffers है। जब आप अपने लिए काम करते हैं, तो आपके clients को पाने के लिए सभी जिम्मेदारी आप पर होती है, और यह कभी-कभी भारी हो सकती है|

इससे भी अधिक, आप अपने जीवन के कठिन बिंदुओं के माध्यम से लोगों की मदद करने की जिम्मेदारी भी लेंगे। यह काफी बड़ा काम हो सकता है और burnout भी हो सकता है।

  • No personal time

आप अपने निजी जीवन को अपने काम में हस्तक्षेप नहीं कर सकते।

For example, यदि आप एक कठिन समय से गुजर रहे हैं, तो आपके पास काम करने के दौरान उस जगह से निपटने के लिए जगह नहीं है, क्योंकि आपको अपनी चुनौतियों से दूसरों की सहायता करना है।

आपको हमेशा दूसरों को खुद से आगे रखना पड़ता है, और आपको हमेशा सहायता के लिए तैयार रहेना चाहिए।

  • Requires a lot of patience

Motivational Speaker / Life Coach को एक top skills आवश्यक है, ताकि आप patience रख सकें।

कुछ समय हो सकता है जब Coaching निराशाजनक हो सकता है, आप और आपके Clients दोनों के लिए, तब अपने आप को और अपने Clients को ऊपर और बाहर खींचना होगा। Coaching emotionally रूप से लगाया जा सकता है, और इसे अपने आप को एक good system में लाने के लिए समय लगेगा|

  • Difficulty Finding Clients

Lastly, खासकर जब आप Coaching शुरू कर रहे हैं तब काम करना मुश्किल हो सकता है, क्योंकि यह एक referral-type business है, इसलिए आपको अपने client base का निर्माण करने के लिए उस good word-of-mouth की आवश्यकता होगी।जब तक आप अच्छी Reputation प्राप्त नहीं कर लेते हैं तब तक आपको काम और संघर्ष करना होगा।

[3] The Business Basics

अब जब आप industry को समझते हैं और अपने सभी उतार-चढ़ाव को समझते हैं, तो आपको समझना होगा कि strategic steps कैसे आगे बढ़ाएं।

1. Setting Your Goals

As a Motivational Speaker / Life Coach, आपको अपने Goals को प्राप्त करने के लिए, काम करने और काम करने के महत्व के बारे में सब कुछ जानना चाहिए। यह आपके clients के लिए Great Advice है, लेकिन अपने लिए बेहतर है| आपको अपने Motivational Speaker / Life Coach career के साथ क्या प्राप्त करने का goal हैं?

अपने लिए Goals को निर्धारित करने का सबसे अच्छा तरीका Smart system हैं|

2. Knowledge and Skills

Primarily, आपके पास एक महान Motivational Speaker / Life Coach बनने के लिए आवश्यक Appropriate Skills होना चाहिए।

However, Skills सीखाने योग्य और इसलिए Skills सीखने योग्य हैं| यदि आपके पास Skills और Personality Features का संयोजन नहीं है, तो Motivational Speaker / Life Coach बनना आपके लिए एक Difficult Match हो सकता है।

Specifically you need to:

  • Have Great Listening Skills – आपको सुनने और अपने client के साथ एक भरोसेमंद संबंध बनाने में सक्षम होना चाहिए, क्या कहा जा रहा है और क्या  नहीं  वो ध्यान से सुनना, और उस से logically आगे बढ़ें|
  • Be a People Person – आपको ऐसे व्यक्ति होने की आवश्यकता होगी जो लोगों के आस-पास रहने का आनंद लेते हैं और उन्हें समझने की कोशिश करते हैं|
  • Be Sensitive – आपको human communication की सूक्ष्मता पर प्रश्न उठा सकते हैं और provoking questions पूछ सकते हैं|
  • Understand Nuances – आपको अपने clients  के जीवन के गहन personal aspects का पता लगाने की ज़रूरत है|
  • Be Confidential – हर चीज जो आपके client बताती है कि आपको utmost confidentiality के साथ इलाज किया जाना चाहिए, और आपको इसे किसी से कहना नहीं चाहिए|

3. Training & Certification

Even though the field is unregulated, जिसका मतलब है कि कोई भी व्यक्ति life coaching शुरू कर सकते हैं, फिर भी ऐसे certifications हैं जो आप प्राप्त कर सकते हैं और training कर सकते हैं कि आप अपने life coaching skills में सुधार करने के लिए उपस्थित रह सकते हैं।

In fact, यह काफी सिफारिश की गई है कि आप एक training program में शामिल हों और प्रमाणित हो जाएं। इसके दो लाभ हैं|

  1. आपके client को अधिक आश्वासन मिलेगा कि आपके पास सहायता प्रदान करने के लिए आवश्यक skills हैं|
  2. आप अपने client की सहायता करने के लिए बेहतर तरीके सीखेंगे|

With certification, आप अन्य Motivational Speaker / Life Coach के साथ सिर खड़े करने में सक्षम होंगे जो अनिश्चित रूप से काम कर रहे हैं। अंत में यह Competitive बढ़त आपके लिए अधिक clients का मतलब है।

Motivational Speaker / Life Coach के रूप में certified करने के लिए कई Schools में से चुनना है| आप एक training course के लिए Rs. 3,20,000 – 6,40,000 का pay कर सकते हैं, लेकिन यह सोचते हुए कि आप Motivational Speaker / Life Coach से प्रति वर्ष Rs. 12,900,000 तक Earn कर सकते हैं, यह एक बहुत अच्छा Investment है।

However, सभी Motivational Speaker / Life Coach के Training Courses समान नहीं हैं, और कुछ ऐसे हैं जो सिर्फ plain bad होते हैं।

दुनिया भर hundreds of Motivational Speaker / Life Coach हैं उनमे से आप Choose कर सकते हैं, और प्रत्येक के पास Different Training Methods and Specializations हैं।

However, एक Motivational Speaker / Life Coach बनने के लिए सीखने का सबसे अच्छा तरीका है, to be a client, to be coached होना है। यह आपको Profession के साथ पहली बार Experience देगा और आपको बताएगा कि आपके Skills और Experiences नौकरी में कैसे फिट होते हैं।

 

4. Your Life Coaching Website

अपने Potential Clients के लिए पूरी तरह से available होने के लिए, आपको online उपस्थित होने की आवश्यकता होगी|

इसका मतलब यह है कि यह आपके लिए अपनी website बनाने के लिए एक बहुत अच्छा विचार है, जहां आप अपने life coaching business के बारे में सभी उचित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Your website should showcase the best parts of your business, your philosophy, and your prices. More specifically, answer the following questions.

  • What type of services do you provide?
  • What sets you apart from the other life coaches?
  • Where are you located, and where do you work?
  • What are your usual rates?
  • What’s the best way to contact you?

 

आपकी website में “About Me” section में या आपकी website पर कहीं भी जानकारी आसानी से खोजी जा सके ऐसी होनी चाहिए। Potential Clients को पहले और सबसे महत्वपूर्ण होना चाहिए कि आप किस प्रकार के व्यक्ति हैं, इससे पहले कि वे आपको Motivational Speaker / Life Coach के रूप में काम पर रखने का भी विचार करें।

5. Pricing

Most Motivational Speaker / Life Coach pricing is a big area with lots of variety.

हमारे अनुभव के study के मुताबिक, Motivational Speaker / Life Coach average Rs. 15000 per hour कमाते हैं।

हमें दो बड़े समूहों के आधार पर कीमतों की श्रेणी को देखना होगा|

  • Executive and Business Coaches
  • Personal Coaching

 

1. Executive Coaching Salaries

For Executive Coaching, coaches Rs. 21000 per hour कमाने की औसत कर सकते हैं, whereas Business coaches Rs. 15000 per hour कमाने की औसत कर सकते हैं|

इसके अलावा, Corporate coaches ज्यादा चार्ज कर सकते हैं, कभी-कभी per hour Rs. 32000 तक की कमाई कर सकते हैं|

2. Personal Coaching Salaries

Personal coaches Rs. 1300-8000 per hour का charge लेते हैं, However पहले कुछ वर्षों में कई लोग Rs. 2000 per hour का charge लेते हैं।

Personal coaches per month लगभग 30 से 60 मिनट के कॉल या बैठकों के चार सत्रों के लिए अपने clients से per month Rs. 13000-64000 का चार्ज कर सकते हैं।

In that way, average पर Motivational Speaker / Life Coach Rs. 3,548,000-7,485,000 per year कमा सकते हैं, However आम तौर पर यह Six-Figure Salary बनाने के लिए बहुत काम और समय लेगा|

3. Salary for Beginners

यदि आप अभी शुरुआत कर रहे हैं, तो आप शायद अपनी कीमत कम रखना चाहेंगे।

यहां तक ​​कि कुछ शुरुआती Motivational Speaker / Life Coach भी हैं जो बिल्कुल मुफ्त में काम करते हैं ताकि वे अपनी Reputations को बना सकें। ये सभी ठीक हैं, खासकर यह विचार करते हुए कि आप संभवत: एक ऐसी नौकरी कर रहे हैं जिसे आप प्यार करते हैं-लोगों को अपने goals को प्राप्त करने में मदद कर रहे हैं|

इसलिए अगर आपको पहले दो साल अपनी वेतन का थोड़ा सा बलिदान करना पड़ता है, तो यह आपके लिए बहुत बुरा बलिदान नहीं होगा।

 

[4] Your Clients

You’ll now need to know how to find your life coaching clients.

1. How to communicate with your clients

Generally, there are three ways that you can communicate with your clients.

  • Face-to-Face

पहला तरीका सामान्य face-to-face है| face-to-face सबसे अधिक अनुसरण करने वाला तरीका हे, और दोनों पक्षों के लिए सबसे greatest amount प्रदान करता है| इस के लिए कई कारण हैं, लेकिन उनमें से एक, एक-दूसरे को पढ़ने में सक्षम होने से संबंधित है|

  • By telephone

दूसरा तरीका Traditional Telephoning है| इसके कुछ स्पष्ट कारण हैं- उदाहरण के लिए, client हे वो कोच से अलग स्थान पर है, इसलिए वे मिल नहीं सकते हैं।

इसलिए, एक ही स्थान पर रहने के बिना Coaching के साथ जारी रहने के लिए, वे Telephones पर भरोसा करते हैं। although यह भी काफी सामान्य है, यह benefits of interaction का लाभ प्रदान नहीं करता है जो face-to-face करता है।

  • Skype and VoIP Services

Thirdly, telephoning से ज्यादा लोकप्रिय Skype जैसे programs का उपयोग करना है। वे telephones के मुकाबले कई लाभ प्रदान करते हैं, एक यह है कि price आम तौर पर कम है|

Secondly, जो सबसे बड़ा है, यह है कि आप Skype के साथ video calls करने में सक्षम हैं, जिसका अर्थ है कि एक virtual face-to-face हैं।

Skype सबसे लोकप्रिय सेवाओं में से एक है, लेकिन कई अन्य VoIP (Voice over Internet Protocol) सेवाएं भी हैं जो समान और बेहतर सुविधाएं प्रदान करती हैं| VoIP phone signals को digital वाले में converting करके काम करती है और इन signals को internet के माध्यम से भेजती है|

2. Traditional marketing methods

Although, जीवन के कई Traditional Aspects को हमारे always-online world में लुप्त हो रहे हैं, फिर भी कुछ traditional features हैं जो beneficial हैं। यह Motivational Speaker / Life Coach के लिए विशेष रूप से सच है, क्योंकि आपको अपने पहले clients को प्राप्त करने और उन्हें आने रखने के सभी अलग-अलग तरीकों की आवश्यकता होगी।

नए clients को पाने के लिए सबसे best marketing तरीकों में से एक वास्तव में उनके साथ बातचीत करना है| इसका अर्थ है कि आप Events, Training, Conferences, or Workshops में भाग ले सकते हैं।

For extra points, आप अपनी own workshop की मेजबानी भी कर सकते हैं और लोगों के प्रश्नों का answer देने में help कर सकते हैं या उन्हें Perfect Information के साथ प्रस्तुत कर सकते हैं जिन्हें मानसिकता में बदलाव करने की आवश्यकता है।

In the meantime, जब आप इन meet-ups पर काम करने में व्यस्त हैं, तो अपने potential clients के बारे में जितनी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, उतनी ही कोशिश करें। Their fears, their wishes, their hopes, their dreams और उन things को जो वापस पकड़ रहे हैं|

यह internet forums पर हो सकता है या सिर्फ friends or colleagues के साथ बात कर सकते है|जितना अधिक आप अपने Potential Clients के बारे में जानते हैं, उतना ही आप उन्हें Find करने में और उनकी help करने में सक्षम होंगे।

3. Guest Posting

Guest Posting को अक्सर कई Motivational Speaker / Life Coach द्वारा अनदेखी की जाती है- लेकिन आपकी reputation को improving बनाने में हमेशा काम करना important होता है। आप केवल एक अच्छे Motivational Speaker / Life Coach के रूप में नहीं देखना चाहते हैं, आप एक प्रभावशाली व्यक्ति, आप अपने क्षेत्र में एक leader के रूप में देखना चाहते हैं|

आप इससे अपने clients के साथ ही न केवल अन्य Motivational Speaker / Life Coach के साथ ही महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करते हैं। इसका मतलब है कि आपको नियमित रूप से life coaching के Generals or Specification के बारे में Articles लिखना होगा। यह आपके own blog पर हो सकता है, लेकिन यदि आप अभी शुरुआत कर रहे हैं, तो एक blog को maintain रखने के लिए काफी एक दैनिक काम हो सकता है|

However, guest posting opportunities को find करना सबसे अच्छा हो सकता है।

You will benefit, because आप एक new audience के लिए अपनी Intelligence, Experience और Skills का प्रदर्शन करने में सक्षम होंगे। यह आपकी reputation का निर्माण करने का एक great and dependable तरीका है। आपका प्रभाव इस पर निर्भर करता है, जैसे आप जीतनी अधिक Guest post करेंगे उतनी आपकी प्रतिष्ठा मजबूत करेगी।

4. Social Media

Social Media सबसे महत्वपूर्ण marketing अवसरों में से एक है। यह life coaching industry में उन लोगों के लिए और भी सच है, क्योंकि आपकी income से आपकी reputation भी जुड़ी होगी।

Reputation को increase या create करने के लिए, आपको social media की शक्ति का उपयोग करना होगा। social media अपने व्यापक पहुंच के लिए और businesses के लिए महान है, यह अनिवार्य रूप से cost-free marketing method है।

Most adults लोग Facebook, Twitter, LinkedIn and a few others का उपयोग करते हैं| आप पहले से ही इन platforms पर अपनी profile का उपयोग शुरू कर सकते हैं। जिस platform पर आप अपने life coaching business के लिए उपयोग करने का निर्णय लेते हैं, वह यह निर्धारित करेगा कि आप किस तरह के Motivational Speaker / Life Coach बनेंगे|

For Executive and Business coaching, आप LinkedIn को अपने primary destination बनाना चाहते हैं। For Personal coaching, आप अधिकतर Facebook का उपयोग करना चाहते हैं|

आपकी मुख्य strategy और आपके content, अपने प्रशंसकों को उनके जीवन को सुधारने के लिए uplifting और inspiring करना चाहिए |ये संदेश clear और consistent होना चाहिए।

Beyond that, आप अन्य methods की कोशिश कर सकते हैं, जैसे कि आपके customers आपके social media पेजों पर Testimonials प्रदान करते हैं।

यह आपके marketing के वास्तविक customers से positive and inspiring quotes का उपयोग करने तक भी जा सकता है। यह आपके LinkedIn या Facebook page के लिए cover picture के रूप में हो सकता है या customer’s के (short and inspiring) Testimonial के साथ एक share करने योग्य image के रूप में हो सकता है|

[5] To sum up…

Life coaching is an excellent industry to get into, and based on current trends one that is also very lucrative.

There are generally six types of life coaches:

  • personal coaching
  • career coaching
  • business coaching
  • executive coaching
  • health coaching
  • relationship coaching

The advantages to life coaching are:

  • you get to work for yourself and determine your own fate
  • you can help make a huge difference in people’s lives
  • you’ll have high income potential
  • you don’t need any certification to start

The disadvantages are:

  • there are major responsibilities connected to your business and your clients
  • you will have to help others and place yourself on the back burner
  • you will need to have lots of patience
  • in the beginning there will be difficulty finding clients

It is important, to start your business that you:

  • set your realistic goals
  • have the personality skills
  • get the training and certification to set you apart from other life coaches
  • create a compelling website that showcases your personality, philosophy and methods
  • determine strategic pricing to remain competitive and be profitable
  • decide on the best tools and software you’ll need to help you manage your life coaching business

In order to find your clients, you’ll need to use:

  • traditional methods, such as attending and hosting workshops and talking to potential clients about their problem areas
  • use guest posting to help spread the word about you and your services
  • fully utilize social media, along with the appropriate social media management tools

“Our Train The Trainer Workshop Will Starting on 11th November 2018 To 17th November 2018 “

 

Motivational Speaker / Life CoachWatch Our Testimonial videos :- Click Here 

Read Other Article, How to Become Motivational Speaker? 3-Secrets! :- Click Here

Motivational Story from Bhagavan Buddha

Motivational Story from Bhagavan Buddha

Hindi Motivational Story from भगवान बुद्ध

भगवान बुद्धअक्सर अपने शिष्यों को शिक्षा प्रदान किया करते थे। एक दिन प्रातः काल बहुत से भिक्षुक उनका प्रवचन सुनने के लिए बैठे थे । बुद्ध समय पर सभा में पहुंचे, पर आज शिष्य उन्हें देखकर चकित थे क्योंकि आज पहली बार वे अपने हाथ में कुछ लेकर आए थे। करीब आने पर शिष्यों ने देखा कि उनके हाथ में एक रस्सी थी। बुद्ध ने आसन ग्रहण किया और बिना किसी से कुछ कहे वे रस्सी में गांठें लगाने लगे ।

 

वहाँ उपस्थित सभी लोग यह देख सोच रहे थे कि अब बुद्ध आगे क्या करेंगे ; तभी बुद्ध ने सभी से एक प्रश्न किया, ‘ मैंने इस रस्सी में तीन गांठें लगा दी हैं , अब मैं आपसे ये जानना चाहता हूँ कि क्या यह वही रस्सी है, जो गाँठें लगाने से पूर्व थी ?’

 

एक शिष्य ने उत्तर में कहा,” गुरूजी इसका उत्तर देना थोड़ा कठिन है, ये वास्तव में हमारे देखने के तरीके पर निर्भर है। एक दृष्टिकोण से देखें तो रस्सी वही है, इसमें कोई बदलाव नहीं आया है । दूसरी तरह से देखें तो अब इसमें तीन गांठें लगी हुई हैं जो पहले नहीं थीं; अतः इसे बदला हुआ कह सकते हैं। पर ये बात भी ध्यान देने वाली है कि बाहर से देखने में भले ही ये बदली हुई प्रतीत हो पर अंदर से तो ये वही है जो पहले थी; इसका बुनियादी स्वरुप अपरिवर्तित है।”

 

“सत्य है !”, बुद्ध ने कहा ,” अब मैं इन गांठों को खोल देता हूँ।”यह कहकर बुद्ध रस्सी के दोनों सिरों को एक दुसरे से दूर खींचने लगे। उन्होंने पुछा, “तुम्हें क्या लगता है, इस प्रकार इन्हें खींचने से क्या मैं इन गांठों को खोल सकता हूँ?”

 

“नहीं-नहीं , ऐसा करने से तो या गांठें तो और भी कस जाएंगी और इन्हे खोलना और मुश्किल हो जाएगा। “, एक शिष्य ने शीघ्रता से उत्तर दिया।

 

बुद्ध ने कहा, ‘ ठीक है , अब एक आखिरी प्रश्न, बताओ इन गांठों को खोलने के लिए हमें क्या करना होगा ?’

 

शिष्य बोला , “इसके लिए हमें इन गांठों को गौर से देखना होगा, ताकि हम जान सकें कि इन्हे कैसे लगाया गया था , और फिर हम इन्हे खोलने का प्रयास कर सकते हैं।”

 

“मैं यही तो सुनना चाहता था। मूल प्रश्न यही है कि जिस समस्या में तुम फंसे हो, वास्तव में उसका कारण क्या है, बिना कारण जाने निवारण असम्भव है। मैं देखता हूँ कि अधिकतर लोग बिना कारण जाने ही निवारण करना चाहते हैं , कोई मुझसे ये नहीं पूछता कि मुझे क्रोध क्यों आता है, लोग पूछते हैं कि मैं अपने क्रोध का अंत कैसे करूँ ? कोई यह प्रश्न नहीं करता कि मेरे अंदर अंहकार का बीज कहाँ से आया , लोग पूछते हैं कि मैं अपना अहंकार कैसे ख़त्म करूँ ?

प्रिय शिष्यों , जिस प्रकार रस्सी में में गांठें लग जाने पर भी उसका बुनियादी स्वरुप नहीं बदलता उसी प्रकार मनुष्य में भी कुछ विकार आ जाने से उसके अंदर से अच्छाई के बीज ख़त्म नहीं होते। जैसे हम रस्सी की गांठें खोल सकते हैं वैसे ही हम मनुष्य की समस्याएं भी हल कर सकते हैं। इस बात को समझो कि जीवन है तो समस्याएं भी होंगी ही , और समस्याएं हैं तो समाधान भी अवश्य होगा, आवश्यकता है कि हम किसी भी समस्या के कारण को अच्छी तरह से जानें, निवारण स्वतः ही प्राप्त हो जाएगा । ” , महात्मा बुद्ध ने अपनी बात पूरी की।  

 

दोस्तों आपको यह स्टोरी “Hindi Motivational Story from भगवान बुद्ध”  कैसी लगी और आपने क्या सीखा वो हमारे साथ कमेंट बॉक्स में ज़रूर शेयर करे |


इस मोटिवेशनल स्टोरी भगवान बुद्ध को आपने दोस्तों के साथ ज़रूर से शेयर करे !

आप मेरी मोबाइल डाउनलोड करे

Parikshit Jobanputra's mobile App Banner
Download "Parikshit Jobanputra Life Coach" Mobile App
Leadership Motivational Story By Russi Mody

Leadership Motivational Story By Russi Mody

Leadership Motivational Story

Russi Mody, Chairman of Tata Steel,  जमशेदपुर  के फुटबॉल मैदान में टाटा स्टील के कर्मचारियों के साथ साप्ताहिक बैठक कर रहे थे।

एक worker ने एक मुद्दा उठाया  कि worker के लिए शौचालयों की “गुणवत्ता “ और “स्वच्छता“ बहुत खराब है। जबकि Executive शौचालयों की “गुणवत्ता “और “स्वच्छता” हमेशा बहुत अच्छी होती है|

Russi ने अपने “Top Executive” से पूछा कि इस समस्या को हल करने के लिए कितना समय तय कर

Leadership,Leadership Motivation

ना चाहिए| Top Executive ने एक महीना कहा। Russi ने  कहा, “मैं  इसे  एक  दिन  में  करना  चाहता हूं। Send me a carpenter.”

अगले दिन, जब Carpenter आया, तो उन्होंने Sign Boards को  Swap करने का आदेश दिया! “worker” शौचालय पर, हस्ताक्षर बोर्ड को “Executive” और “ Executive ” शौचालय पर, हस्ताक्षर बोर्ड को “worker” शौचालय में बदल दिया गया था।

फिर  Russi  ने हस्ताक्षर बोर्ड को ” हर दूसरे दिन ” वापस बदलने का निर्देश दिया!

Leadership Motivational Storyदोनों शौचालयों की “गुणवत्ता” और “स्वच्छता”  3 दिनों में एक समान हो गई|

इस समस्या का एक “समाधान” जो तत्काल और स्थायी था|

” Debriefing of this Story “

एक Leader के रूप में, हमारा काम “समस्या” को “शांति” से सुनना हे, लेकिन “समाधान” पे जल्दी से काम करना भी हे|और यह की, समस्या को “शीघ्र हल” करने के लिए हमें हमेशा “नए तरीके ढूंढते रहेना चाहिए”। जब आप इस मानसिकता को प्राप्त करते हैं, तो सामान्य Leadership से लेकर  Russi Mody  जैसी महान Leadership के लिए आप अपना रास्ता शुरू कर सकते हे|

“Leadership शीर्षक या पदनाम के बारे में नहीं है| यह “प्रभाव”, “प्रभावशीलता” और “प्रेरणा” के बारे में है| प्रभाव में “परिणाम” प्राप्त करना शामिल है, प्रभाव आपके काम के लिए जुनून को फैलाना है, और आपको टीम के “साथी” और “ग्राहकों” को प्रेरित करना है|

If you like this story, Share this Motivational Story with your friends…

Read Other Story,motivational-story of Bhagavan-buddha  :- Click Here

Watch Our  Video, Motivational-Story of  Bhagavan-Buddha  :- Click Here

– Parikshit Jobanputra 

 

Parenting Tips for Teenagers Hindi | How to Discipline Teenage Children?

Parenting Tips for Teenagers Hindi | How to Discipline Teenage Children?

Parenting Tips For Teenage Children

बच्चे  Teenage  में पहोच जाते हे तब बच्चे  Back Answering  और  Anger  बहोत ज्यादा करते हे| तो ऐसे Situation को कैसे  Tackle  करे| इस बात का Solution  में आज के इस Blog में देने जा रहा हु| जब बच्चे धीरे धीरे बड़े होते हे, साथो साथ उनको लेकर हमारे जो Problem हम Face करते हे वो भी धीरे धीरे बड़े होते हे| जब बच्चा  Teenage  के आसपास और  Teenage  में पहोचता हे तो ज्यादातर बच्चो की अंदर Total जो 4 Problem दिखाई देते हे| वो आप लोगो के साथ Share करना चाहता हु|

4 Problem’s Of Teenage

1) Argument  :- जैसे जैसे आपका बच्चा बड़ा होता जाता हे| वैसे वैसे सायद बच्चो की हमारे साथ

थोड़ी Argument  तू तू में में बठती जाती हे|
2) Arrogance :- बच्चे पहले हमारी बात सुन लिया करता था लेकिन अब बच्चा धीरे धीरे Arrogant होता हे|

3) Anger :-  देखा गया हे की बच्चे जैसे जैसे बड़ा होता जा रहा हे वैसे उसका Anger भी बठता हे |

4) Aloneness (Loneliness):- धीरे धीरे बच्चा बड़ा होता हे वो अब धीरे धीरे वो अपने आपको मम्मी पापा से दूर करता जाता हे| छोटा बच्चा जैसे पठने के लिए पहले मम्मी के साथ Study करता था | और मम्मी की बात पठने ने के लिए सुना करता था| जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होता हे वो अपने आप को Alone करता हे|

बच्चा Social  Function  में आना नहीं चाहता और मम्मी और पापा के साथ Study  करने नहीं बेठता , बच्चा अपने आपको रूम में बंध रखता हे|

 

बच्चे धीरे धीरे बड़े होते हे, वैसे वैसे ये 4 Problem  भी बठते जाते हे|So ये 4 Problem के Solution लेकर आज का ये Blog हे| जहा पर दोस्तों 5 – A” आप लोगो के साथ Share करना चाहता हु|

“5-A” Parenting Tips For Teenage Children

1) Accept –

As A Parents  हमें ये Accept  करना हे की बच्चो अपनी मम्मी पापा को लेकर थोड़ा सा  Upset और Argument  कर सकता हे| बच्चे,  जो हमारे Opinion  हे या जो हमारे Solution  हे  वो Accept  ना करे तो उसमे कोई गलत बात नहीं हे| दुनिया के जितने भी Parents  हे उनके बच्चो के द्वारा उन्होंने सुना ही होगा की आप अच्छे मम्मी और अच्छे पापा नहीं हो और आप मुझे अच्छा प्यार नहीं करते हो और बच्चा आप पर गुस्सा करता हे ये स्वाभाविक हे|

परम पूज्य महात्मा गाँधी के बच्चोने भी सायद उनको इतना Accept नहीं किया था| उनको भी लगा था की मेरे पापा के अंदर बहोत सारे Improvement  की जरुरत हे| बड़े से बड़ा व्यक्ति हो उनको अपने बच्चे के पास से सुनना पड़ता ही हे| So First Think That is Accept  करे की बच्चे जब बड़े होते हे तो उनका खुद का Opinion होगा, उनके खुद की सोच होगी और वो हमारे सामने Argument या Anger करेंगे| वो बात को सब से पहले हम Accept करना शुरू करे|

मम्मी पापा को लगता हे की Problem मुजमे हे, में अच्छा मम्मी और पापा नहीं बन पाया| में ये कहना चाहता हु की दुनिया के हर बच्चे को अपने मम्मी पापा को लेकर कही ना कही और कभी ना कभी ऐसा Behavior  देखा गया हे| So No 1 Accept करे की बच्चे Teenage में ऐसा Behave करते ही हे So  आप सबसे पहले Tension Free हो चाहिए|

2) Appreciate The Work :-

जैसे बच्चे बड़े होते जाते हे वैसे देखा गया हे की मम्मी पापा की और से बच्चो को जो Appreciation मिलना चाहिए वो धीरे धीरे कम होता हे| ज्यादा केस में देखा गया हे की बच्चा जब छोटा होता हे तब उसकी छोटे सी छोटी बात पर Appreciate करते हे|बच्चा जब पहेली बार चलता हे, मम्मी या पापा बोलता हे तब उसको Appreciation मिलता हे| धीरे धीरे बच्चा बड़ा होता हे और उसके बाद बच्चो को धीरे धीरे Appreciation मिलना कम होता हे| बच्चो को Appreciation कम मिलने  के कारण उसके अंदर वो Irritating , Anger, Argument  और Arrogance आता हे| इसलिए बच्चा अपने आप को Alone करता हे|

हमें वो चीज़ याद रखे की बच्चे जैसे जैसे बड़ा होता हे, Problems को साइड में करते हुए वो कोई भी चीज़ अछि करता हे तो वो चीज़ को है Appreciate करे| एक चीज़ ध्यान में रखिये की बच्चे को नहीं, बच्चे को उस काम को Appreciate करना हे|

As A Example :- मेरा बच्चा 90 % लेकर आता हे तो बेटे को Appreciate नहीं करना हे की तू बहोत ही Brilliant, Genius हे| उसके जगह पर मुझे बच्चे के Efforts को Appreciate करना हे|बेटा तूने इस बार जो Paper Writing पे  Focus किया और 1 Month पहले से Reading शुरू की थी वो सही में काबिल के तारीफ थी| जब भी हम बच्चो को Appreciate करते हे तो बच्चो के अंदर Arrogance आ जाता हे| But  उसकी जगह पर बच्चो के द्वारा किये गए Efforts को Appreciate करेंगे तो Defiantly Children Would Agree Efforts is Powerful  और उनका behavior  हमारे प्रति Good And Positive होगा|

3) Adventure :-

बच्चे बड़े होते हे, वैसे बच्चो को Adventure और Excitement  की Requirement  होती हे| इसीलिए आपने देखा होगा की Teenage के बच्चो के हाथ में व्हीकल आते ही बच्चे Full Speed से चलाने लगते हे| बच्चे Racing करना चाहते हे| ऐसी चीज़े जंहा उनको Adventure Feel हो वैसी चीज़ो के अंदर ध्यान ज्यादा जाता हे| इसीलिए बच्चो को Action Movie And Action Games ज्यादा Prefer  करते हे, आज के बाद हमें Routine के अंदर क्या Add करना हे| That is हम बच्चो के साथ थोड़ा Adventure करे|

As A Example  हम बच्चो को Mall में लेके जाने से अच्छा हे की हम बच्चो को Amusement  Park के अंदर लेके जाये| हम बच्चो के साथ Badminton  खेले, Race लगाए और Boxing कर सकते हे| वैसी चीज़े जहा बच्चे Adventure Feel करते हो वो यदि हम उसके साथ नहीं करेंगे तो वो चीज़े बच्चे अपने दोस्तों के साथ करेंगे ,और वो Wrong Direction में भी जा सकते हे |

4) Advice From Others :-

बच्चे जब बड़े हो जाते हे उनके लिए मम्मी पापा घर की मुर्ग़ी दाल बराबर लगने लगते हे| मम्मी पापा की Value Comparatively  धीरे धीरे कम हो जाती हे| क्यूंकि बच्चे ने बचपन से हमको उठते , बैठते , Anger, Argument And तू तू में में करते हुए  देखा हे| बच्चे को हमारी Advice की Value नहीं हे, फिर हमें क्या करना चाहिए Advice From Others| जब बच्चा बड़ा होता हे, Teenage में पहोचता हे और आपकी बात सुनना कम कर देता हे तब ऐसे कोई Coach को ढूंडे और ऐसी कोई व्यक्ति को ढूंडे , ऐसे कोई Uncle या Aunt , जिसका Influence  और प्रभाव आपके बच्चे पर हो| उनके द्वारा यदि आप Advice  दिलवायेंगे तो Defiantly  बच्चा उनकी बात जरूर मानेगा|

जो बच्चे Teenage में होते हे उनके लिए मेरा Enjoy Your Exam का Workshop हे| 2 Days  के अंदर Teenage बच्चो को  में, मम्मी पापा के साथ केसा Behave  करना चाहिए, Study And Exam को कैसे Face करना चाहिए, concentration कैसे Improve  करना चाहिए, ऐसी काफी सारी Techniques सिखाता हु| मम्मी पापा  बच्चो को 5 Year से पठाई के लिए बोलते हो पर बच्चा पठाई नहीं करता  पर यहां 2 Days आता हे और 2 Days के बाद बच्चे के अंदर काफी सारा Change आता हे| मम्मी पापा काफी Surprise  होते हे की यार हम तो 5 Year से बोल रहे थे तो Change नहीं आया और Sir आप के Workshop  Attend करने के  2 Days  में मेरा बच्चा काफी बदल गया हे|क्यों Friends  ये Change होता हे That Reason is Advice From OtherMore About Enjoy Your Exam Click Here.

जैसे जैसे बच्चा बड़ा होता हे वैसे ही घर के लोगो की Value कम होती हे तो समय पे हमारे Neighborhood, Friends या Relatives  में ऐसा कोई व्यक्ति की जिसकी बच्चा Value करता हो, जिनसे बच्चा Influence  हो, वो व्यक्ति से Advice  हम खुद दिलवाये या कोई भी Professional  Course जैसे की मेरा Enjoy Your Exam Workshop  हे, या आपके सिटी में भी ऐसा कोई न कोई वर्कशॉप Teenage बच्चो को लेकर होते हे| वहां पर बच्चोको Enroll करे, उससे आपको Defiantly  Change दिखेगा|

5) Ask :-

आज से पहले ज्यादातर हम बच्चो को Suggestion or Advice देते थे| But Friends जब बच्चा Teenage में आता हे, उसके बाद उसके अंदर खुद का Ego  Develop  होता हे| अब हम उसको Advice देते हे तो बच्चा  हमारी बाते Accept  नहीं करता| बच्चा Argument  पे आ जाता हे और बच्चा हमारे पर Anger  करना Start कर देता हे|

आज के बाद हम क्या करंगे, तू TV बंध कर, तू पठाई पे ध्यान दे, तू कुछ करता नहीं ऐसी Advice देने से ज्यादा, Ask Him आप उसको पूछे की बेटा, आपको कोनसे टाइम पे पढ़ना चाहिए, आपको कितने समय में टीवी बंध कर देना चाहिए| So  उसको Advice देने से ज्यादा हम उसको Ask करे|

छोटी छोटी बातो को आप पूछ सकते हो| जितना ज्यादा आप बच्चो को पूछेंगे, जितने Option  हम उनसे पास से निकालेंगे तो हमें उतना ही अच्छा Result मिलेगा .

Teenage Children के लिए Tips देना चाहूंगा Friends :- बच्चो को डायरेक्ट Advice देने से ज्यादा बच्चो को 2 या 3 Option दे . Example :- तू कब पढ़ेगा, पढाई करने के लिए बैठ, तू आज पढ़ने के लिए बैठा ही नहीं, वो Direct  Advice  देने की जगह आप उसको पूछे की बेटा आज 4 O’clock  पढ़ने के लिए बैठोगे या  6 O’clock ? जब आप उसको पूछते हो और उसको दोनों में से 1 Option Choose  करना हे, तो Defiantly  Option  उसने Choose किया हुआ हे तो वो उसको Follow करने की Probability  बढ़ जाती हे|

If you like this Article, Share this Parenting Tips with your friends…

Read New Article,Helpful article for parents – best parenting tips  :- Click Here

 

Watch More parenting Videos:

10-Tips for Effective Public Speaking in Hindi

10-Tips for Effective Public Speaking in Hindi

10-Tips for Effective Public Speaking in Hindi

 

मेरे 12 साल के अनुभव में 10-लाख से अधिक लोगो को अड्रेस करने के बाद यह 10 स्टेप्स Effective Public Speaking के आपको बताने जा रहा हु , आपभी मेरी तरह डरे बिना कॉन्फिडेंस के साथ स्टेज पर बोल पाएंगे |   इन सारे स्टेप्स को न सिर्फ पढ़े किन्तु अलगसे नोट भी कर ले |

 

1) तैयारी करें :-

Effective Public Speaking  मे, ये पहला और सबसे ज़रूरी पॉइंट है| आप जिस विषय पर, जिस जगह और जिस समूह के सामने स्पीच देने वाले हैं , उसके according आपकी तैयारी होनी चाहिए। तैयारी करने के लिए खुद को पर्याप्त समय दें, Google , अख़बारों , लाइब्रेरी का पूरा प्रयोग करें और जबरदस्त कंटेंट तैयार करें, मिरर के  सामने  उसकी practice करें, हो सके तो अपने speech की mobile recording कर के सुनें  और गलितयों को सुधारें |  याद रखें आप चाहे कितना अच्छा बोलना क्यों न जानते हों , अगर आपका कंटेंट अच्छा नहीं है तो बात नहीं जमेगी |

 

2) श्रोताओं से जुड़ें :-

यदि आप एक सफल वक्ता बनना चाहते हैं, हमेशा श्रोताओं से जुड़ने का प्रयास कीजिये, जब आप श्रोता को एक दोस्ताना माहौल देते हैं, उनके व्यवसाय, उनकी समस्याओं, की बात करते हैं तो श्रोता को कभी भी अकेलापन महसूस नहीं होता| आपकी जिंदगी के छोटे-छोटे किस्से और उनकी जिंदगी से जुड़ी बातें, छोटी-छोटी खुशियों के पल, जब आपकी भाषण के बीच में आते हैं तो श्रोता को आपको अपनाने में देर नहीं लगती| यदि आप श्रोताओं, संस्था या उस समाज की किसी विशिष्ट उपलब्धि की चर्चा उनके सामने करते हैं, तो प्रतिक्रिया में उनके मुँह खुले के खुले रह जाते हैं, क्योंकि वे सुनकर हैरान हो जाते हैं कि सब वक्ता को पता कैसे चला!

यदि आप पहले भी कभी उनके शहर में आ चुके हों तो उन बातों को दोहराइए, उस शहर के यादगार लम्हों को उनके सामने रखिये| उस स्थान के दुर्लभ स्मारकों की बात कीजिये| यदि उस अनगिनत की भीड़ में भी आप कुछ लोगों को जानते हों और वे प्रतिष्ठित हों, तो उनका आदरपूर्वक जिक्र कीजिये |

हमेशा ऐसी बातें करने का प्रयास कीजिये जैसे आप खुद उस शहर से बहुत दिनों से जुड़े हों, उन लोगों के प्रति आपके दिल में बहुत प्यार और स्नेह है और आप खुद भी उस शहर से बेहद प्यार करते हैं|  ये बातें जितना अधिक आपके ह्रदय से निकलेंगी उतना ही श्रोता आपको पसंद करंगे , बनावटी बातें किसी को पसंद नहीं आतीं। और जितना ज्यादा श्रोता आपको पसंद करंगे, उतना ही अधिक वो आप पर विश्वास करेंगे |

 

3) Eye contact रखें :-

एक अच्छा Speaker speech देते वक़्त हमेशा audience की आँखों में  देखता  है  , ऐसा करने से उसके self-confidence का पता चलता  है। आप भी इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप इधर – उधर देखने की बजाये श्रोताओं को देखें | और ये भी ध्यान दें कि आप एक ही तरफ ये कुछ विशेष व्यक्तियों को ही नहीं देख रहे बल्कि बारी-बारी पूरे group से नज़र मिला रहे हैं |

 

4)  ज़मीन से जुड़कर अपनी बात कहें :-

कुछ लोग स्टेज पर जाते ही खुद को बड़ा समझने लगते हैं और सुनने वाले को एकदम सामान्य! आप श्रोताओं को कभी खुद से कम मत आंकिये क्योंकि श्रोता आपको सुनने के लिए उपस्थित हैं इस कारण आप स्टेज पर खड़े हैं| बड़ी-बड़ी बातों से डींगें हांकने की जगह साधारण इंसान की तरह सामान्य शब्दों में अपनी बात श्रोताओं तक पहुंचाइए| इस बात का ध्यान मन में हमेशा होना चाहिए कि बड़ी-बड़ी और साहित्यिक बातें सिर्फ प्रशंसा के लिए अच्छी लगती हैं परन्तु सामान्य बातें सीधे श्रोता के दिल पर असर डालती हैं| बड़ा व्यक्ति जितना ज़मीन से जुड़कर बात कहता है उतनी ही ज्यादा वह प्रसिद्धि हासिल करता है |

 

5) हमेशा Positive रहें और श्रोताओं को उत्साहित करें:-

आपको जिस Topic पर Speech देने के लिए बुलाया गया है उस विषय पर हमेशा खुद को Positive रखिये| आपका पूरा उत्साह आपकी बातों और शरीर से झलकता हुआ प्रतीत होना चाहिए| आपने कभी नीलामी होते हुए जरूर देखा होगा, वहाँ मुख्य वक्ता किस तरह से पूरे उत्साह से भरकर बोली लगाता है कि देखते ही देखते वो सबको अपनी ओर इतना आकर्षित कर देता है कि लोग अपनी हैसियत से ऊँची बोली लगा बैठते हैं| जब भी आप अपना भाषण श्रोताओं तक पहुँचाने वाले हों तो स्वयं को उत्साह के चरम सीमा पर लेजाइये| आपका आत्मविश्वास और उत्साह लोगों के दिल में आपकी जगह सुरक्षित कर देगा |

 

6) Speech बिना देखे बोलें :-

अगर एक प्रभावी Trainer / Speaker बनना है तो आपको बिना देखे बोलना आना चाहिए | Of course आप अपने साथ कुछ Notes रख सकते हैं , या पूरा का पूरा भाषण भी type कर के ले जा सकते हैं | पर आपकी practice इतनी होनी चाहिए कि सुनने वाले को ये लगे कि आप बोल रहे हैं पढ़ नहीं रहे हैं |

Again, बिना देखे खराब भाषण देने से अच्छा है देख कर  सही बातें बोली जाएं | इसलिए अगर आप  बिना देखे बोलने में comfortable नहीं हैं तो  किसी बड़े occasion पर इसे try करने के बजाये छोटे-मोटे अवसरों पर ऐसा करने का attempt कर सकते हैं| Practice से कुछ भी सीखा जा सकता है , इसलिए एक प्रभावशाली Public Speaker / Trainer बनने के लिए आपको बिना  देखे बोलने की कला में पारंगत होना होगा |

 

7) निंदा से हमेशा बचेंप्रशंसा से दिल जीतें :-

श्रोताओं या उनसे जुड़ी चीजों की निंदा करने से बचें,  ध्यान रखना चाहिए कि आपके मुँह से निकली बात सामने वाले पर पूरा प्रभाव डालेगी| कई बार हम किसी क्षेत्र और वहाँ की अव्यवस्थाओं पर कड़े और तीखे भरे स्वर में निंदा कर देते हैं,  आप निंदा करके रातों -रात चीजों को बदल नहीं सकते , इसलिए किसी कमी पर ध्यान केंद्रित करने की बजाये उस कमी को दूर करने के उपायों पर बात करना सही होगा , और यही आपके श्रोताओं को भी अच्छा लगेगा।

श्रोताओं का दिल खोलकर वास्तविक प्रशंसा करें, क्योंकि प्रशंसा ही दिल को जीतने का सबसे अच्छा माध्यम है| श्रोता बहुत समझदार होते हैं , उन्हें मख्खनबाजी और वास्तविकता का फर्क बहुत अच्छे से पता होता है |

 

8) Humour का प्रयोग करें :-

अच्छे वक्ताओं का एक बहुत बड़ा हथियार होता है Humour / हास्य,  भाषण में बीच -बीच में हास्य का प्रयोग श्रोताओं को बांधे रखता है और गंभीर विषयों को भी नीरस होने से बचाता है|  हास्य का एक अहम पहलु है , “खुद पर हंसना”, ऐसा करना आपके व्यक्तित्व की विनम्रता को उजागर करता है| आपसे सम्बंधित कोई मजाकिया अनुभव श्रोताओं के बीच रखकर आप माहौल को खुशनुमा बना सकते हैं | और ये भी ध्यान रखें कि कभी  किसी Religion, Political party, Race, Sex, Etc, को लेकर कोई मज़ाक न करें |

 

9) Time Limit में भाषण पूरा करें :-

कई बार लोग शुरुआत तो अच्छी करते हैं पर अपनी बात को इतना खींचते चले जाते हैं कि श्रोता बोर हो जाते हैं। कम शब्दों में अपनी बात कहना एक कला है , और एक अच्छा वक्ता इस बात को बखूबी जानता है| इसलिए आपको भाषण के लिए जितना समय दिया गया है उतने में ही अपनी बात पूरी करिये। याद रखिये एक अच्छा वक्ता वो नहीं होता जो सिर्फ अच्छी तरह भाषण शुरू करना जानता है , बल्कि वो वो होता है जो सही समय पर रुकना भी जानता है ।

 

10) अंत भला तो Speaker भला :-

Speech का अंत प्रभावशाली होना चाहिए | स्पीच के अंत में लोगों में जोश पैदा होना चाहिए, या उन्हें अच्छा feel होना चाहिए। आप कुछ शेरो-शlयरी, Inspiring Story या कोई अच्छा सा quote use कर सकते हैं। Speech को positivenote पे end करना उसे यादगार बना देता है और लम्बे समय तक लोग Speaker को याद रखते हैं | अतः भाषण का अंत कैसे हो इसपर विशेष ध्यान दें |

Friends, आज आप चाहे जैसे भी वक्ता हों, Practice, Patience और Preparation से आप एक उच्च स्तर Motivational Speaker बन सकते हैं |  तो चलिए इन बातों का ध्यान रखते हुए अपने efforts में जुट जाइए और महान वक्ताओं की श्रेणी में खुद भी शामिल हो जाइए |

Thanks & All the best!

If you like this, Share this article with your friends…

Read New blog on How To Become Motivational Speaker:- Click Here

Watch Our New Video, How to Choose Motivational Speaker:-Click Here 

– Parikshit Jobanputra 

Now be a Motivational Speaker & Life Management Coach. Join Train The Trainer Workshop.

Inspirational Story: “Where there is a WILL, there is always a way”

Inspirational Story: “Where there is a WILL, there is always a way”

Inspirational Story: “Where there is a WILL, there is always a way” 

Long ago, in China, there lived a big businessman whose business was to sell combs. Now that he was becoming old and about to retire, he wanted to place the business into wise and able hands.

So, he called forth his three sons and instructed them, that their assignment was to sell combs in the Buddhist monastery. The sons were shocked and confused because the monks in the monastery were bald and they never grew any hair. Anyhow, the three sons went about the job that was assigned to them.

After two days, the first son reported he had sold two combs. When the father asked how, he replied, that he instructed the monks that the comb would be a valuable tool for scratching their backs in case of itching.

The second son appeared later and told that he had sold ten combs by advising the monks that the combs would help their visitors and pilgrims to comb their hair before entering the monastery, as their hair might have ruffled during the journey to the monastery.

Then the third son came out with a surprising sales figure of a thousand Combs. The father filled with happiness and anxiety asked him how he had achieved such a feat.

The third son replied, that he gave the monks an idea.The idea was, that if some of the teachings of Buddha were to be printed/embossed on the comb and given as a take away gift to the visitors and pilgrims; they will remember the teachings of Buddha on a daily basis while combing their hair.
This creative idea struck the deal.

The simple story above goes to show that, “Where there is a WILL, there is always a way”

Our Attitude Shapes our Action and Results also, when faced with challenge how will you respond? How can you create new need/desire for your customers? Kindly Leave your comments…

 Hope you enjoyed the Inspirational Story,  

“Share this Inspirational Story to your friends”

Want More Life Changing Stories??? Click Here

सफल होने के लिए No:1 सीक्रेट ! No:1 Secret for Success !

सफल होने के लिए No:1 सीक्रेट ! No:1 Secret for Success !

मैं Parikshit Jobanputra – Motivational Speaker & Life Coach, इस हफ्ते के नए Hindi motivational blog, No:1 Secret for Success मेंआप का स्वागत करता हूं l आज की यह जो blog वह हमें जीवन के अंदर हमारे dreams के लिए हमें मेहनत करना और डटे रहना सिखाता है l

ज्यादातर लोग अपने जीवन में सिर्फ और सिर्फ problems को देखते हैं और problems को देखते हुए उन्हें लगता है कि उनके जीवन में सफल होना संभव नहीं है l उन्हें लगता है सफलता शायद उनके नसीब में नहीं है l

पर दोस्तों मैं यह Secret for Success बताना चाहता हूं कि असंभव या IMPOSSIBLE हकीकत नहीं है, वह मात्र और मात्र किसी व्यक्ति का मंतव्य है और उस बात को आप के जीवन की हकीकत न बनने दें l

किसी भी लक्ष्य को यदि आप पूरे दिल से चाहते हो और उस बात के लिए कड़ी मेहनत करते हो तो दुनिया में कुछ भी पाना नामुमकिन नहीं है दोस्तों l

  • एक ऐसा लड़का जिसके पिता fishing का काम किया करते थे, वह लड़का अपने परिवार का पेट भरने के लिए लोगों के घर जाकर newspaper  बेचा करता था वह लड़का भला क्या कर पाता ? वह व्यक्ति pilot के interview में भी फेल हुए थे और दोस्तों आज पूरी दुनिया उन्ही Missile Man  के नाम से जानती है l Abdul Kalam अपनी सच्ची लगन मेहनत और ईमानदारी से ना सिर्फ एक scientist बने, बल्कि INDIA के president भी बने l
  •  All India Radio(AIR)  में अपनी भद्दी आवाज की वजह से reject  हुए थे, वह दुखी नहीं हुए ,बैठ नहीं, गए हार नहीं मानी लेकिन कड़ी मेहनत से अपनी आवाज को सबसे ज्यादा फेमस कर दिया और वह है अमिताभ बच्चन l
  •  लोग कहते हैं कि अच्छी communication के बिना अच्छा career  बना पाना मुमकिन नहीं है लेकिन एक व्यक्ति जिन्होंने अपने career  के लिए एक भी शब्द नहीं बोला और फिर भी दुनिया के सफल व्यक्तियों के बीच में अपना नाम लिख दिया और वह Charlie Chaplin l

SUBSCRIBE FOR MORE MOTIVATIONAL VIDEOS: CLICK HERE

Secret for Success – जो भी आप के reasons आपको सफलता की ओर आगे ले जाने से रोक रहे है हमें उन reasons को रोकने की जरूरत है, हम जो भी चाहे वह definitely पूरा कर सकते हैं l

  •  जीने टीचर दिमागी तौर पर slow मानते थे, जो बच्चा अपने जीवन में 4 साल की उम्र तक बोल नहीं पाया ,जो 7 साल की उम्र तक पढ़ नहीं पाया, वही बच्चा बड़ा होकर Albert Einstein बनता है l
  •  एक व्यक्ति जिसकी फिल्म की स्क्रिप्ट के लिए उनको 1500 से भी ज्यादा बार reject किया गया फिर भी वह अपने GOAL पर अडिग रहें और अपनी मेहनत चालू रखी l उन्होंने “ROCKY”  जैसी सुपर डुपर हिट फिल्म बना  दी और वह व्यक्ति थे  Sylvester Stallone l

इतनी बार नाकामयाबी मिलने के बावजूद भी उन्होंने अपने प्रयत्न में कभी भी कमी नहीं आने दी,  Secret for Success वैसे ही आप भी निष्फलता से डरे बिना अपने गोल के लिए सतत प्रयत्न करते रहे l

  • एक ऐसा व्यक्ति जो ग्रेजुएट होने के बाद तकरीबन 30 से ज्यादा job में apply करता है और हर बार उन्हें  नाकामयाबी मिलती है l हर जॉब में उनको एक ही बात सुनने को मिलती है  that is  “you are not good” l वह व्यक्ति अपने जीवन में हार नहीं मानते और अपने लिए सफलता की नई राह चुनते  हैं, वह व्यक्ति है JACK MA. आज alibaba.com की वेबसाइट से पूरी दुनिया में फेमस है और दुनिया के Top Rich लोगों के अंदर भी उनका नाम है l
  • एक बच्चा  10th standard  में STD-PCO में पार्ट टाइम काम किया करता था, गरीबी के कारण जो बच्चा 12th  standard तक government school में पढ़ा, जो बच्चा अमृतसर के “Laughter Challenge” के ऑडिशन में फर्स्ट टाइम रिजेक्ट हो गया वह व्यक्ति ने भी अपने जीवन के अंदर हार नहीं मानी l फिर से audition देने के लिए दिल्ली पहुंच गए और वहां पर ना सिर्फ उनको सिलेक्ट किया गया पर दोस्तों वह पहले नंबर से जीते वह व्यक्ति है Kapil Sharma l

सोचे Secret for Success कि हर जो व्यक्ति सफल हुआ है उसको कहीं ना कहीं कभी न कभी निष्फलता का सामना करना पड़ा है l

  •  Michael Jordan बास्केटबॉल के लिए पूरी दुनिया में माने जाते हैं पर दोस्तों आपको जान कर हैरानी होगी कि बचपन में उन्हें भी अपने स्कूल के बास्केट बॉल की टीम से निकाला गया था कहते हुए कि आप उतना अच्छा नहीं खेल पाते हो l

जितने भी सक्सेसफुल लोग हुए हैं सभी लोगों की जीवन का मैने स्टडी किया है और सभी लोगों को कोई ना कोई मुश्किल कोई परेशानी आई थी l इन सारे example के द्वारा मैं भी आपको वही Secret for Success बताना चाहता हूं कि यदि आज आपके जीवन में परेशानी है आपके जीवन में कोई मुश्किल है तो चिंता ना करें, अपने आप पर विश्वास रखें l

भले शुरुआत में आपको सफलता ना मिले फिर भी आप डेट रहे, पुरे लगन के साथ अपना काम चालू रखें l और एक दिन यही लोग होंगे जो आपके लिए खुश होकर तालियां बजाते होंगे l

एक बात  जरूर से ध्यान रखें कि “IMPOSSIBLE” शब्द को भी यदि हम अलग करके देखते हैं तो वह खुद ही कहता है

“ I AM POSSIBLE “

Secret for Success आज से अपने लक्ष्य के लिए डटे रहे और आपके जीवन में बहुत सारी सफलता पाएं ऐसी ढेर सारी शुभकामनाओं के साथ मैं आप को अलविदा कहना चाहता हूं l   – Parikshit Jobanputra

How to Become Motivational Speaker? 3-Secrets!

How to Become Motivational Speaker? 3-Secrets!

This blog is especially for people who wants to be a Successful Motivational Speaker / Life Coach or public speaker. Many people asked me during my live sessions and through my app that how can they also be a successful motivational speaker like me?

Yes,  there are many motivational speakers out there. But if you are not successful, then how can you teach someone to become a successful motivational speaker?

So in this blog, you will learn my top 3 secrets for becoming a motivational speaker (this comes directly from my heart from my experience of 12 years).

If you want to be an extremely successful motivational speaker then follow  these Golden  tips:

1- Position your expertise:

The majority of the trainer or motivational speakers try to speak on many subjects trying to cover as many subjects as possible. But here I want to tell you that this is the time where you have to show your “SK (Special Knowledge)”, not “GK (General Knowledge)”.

For example, a surgeon gets a lot more fees for visit compare to general practitioner’s  visit.

So  “success secret”  is that you decide any 1 particular subject or topic which is near to your heart. Do not decide your subject or topic based on other trainer’s success, or so a copy should be not the purpose.

When you will explain your subject direct dilse (from the heart) it will have an awesome impact on audience’s, heart. Decide your subject and start working on it. In my case when I came to training industry 12 years back, no one in India had thought about training on parenting. But today I am a No.1 trainer on Parenting and Student Motivation because the subject was near to my heart.

So establish yourself in the industry as a specialist, not as any other common speaker.

2- Write a Book:

During my journey of  12 years  I have seen many trainers failing and disappearing, many not reaching the level they should reach in enough time just because they did not know any proper path for success in the training industry.

One of the reasons for the failure is, many trainers do not write a book related to their subject.

The book helps you to show your authenticity to your client. For example, think of a scenario where you need to arrange a motivational seminar for your own company. So you meet 2 motivational speakers. The first speaker gives you his visiting card after meeting and the second speaker gives you his book. So whom will you select for your seminar?

So if you want to write a book on your subject and want to make it a bestseller, then you should attend my “Train The Trainer Workshop”, in this workshop, I will teach you secrets for writing a book on your topic. It is the most personalized workshop I have ever provided.

3- Market Yourself Effectively:

To increase your business as a Motivational Trainer / Speaker or Life Coach you need to apply latest marketing strategies.

Most of the trainers work day and night to book 2-3 seminars in a month. On the other side, I deliver 3-4 seminars per week.  Meanwhile, When any event organizers call my company for organizing any motivational speech,  my team first have to check my availability for that seminar date.

This happens to me because I have applied and tested all marketing strategies.

One of them is delivering your content to your target audience. This content can be in form of book, video or audio. But first, you need to decide your audience as per your business requirement.

For example, The advt. of Mercedes or Rolls Royce you never watch on TV. As they know their customer very well & they will market their product accordingly !

So to learn latest and tested marketing strategies join me in my Train The Trainer workshop from 19th August to 25th August 2018.

In the end, I just want to tell you that I have spent 12 years to reach 1.2 million people and transform their lives successfully, by using my experience you can achieve the same success in much lesser time.

So get trained by the best and start to train best.

P.S. – Here is special 2-hours FREE training for you to become a Successful Motivational Speaker – Click Here

27 parenting tips for busy parents

27 parenting tips for busy parents

27 Parenting Tips to Show Your Love to your children and ways to know them in a better way. Every parent Must read & try some of them: 

1. Put away your phone in their presence.

2. Pay attention to what they are saying.

3. Accept their opinions and point of view.

4. Engage in their conversations.

5. Look at them with respect.

6. Always praise them.

7. Share good news with them.

8. Speak well of their friends and loved ones to them.

9. Keep in remembrance the good things they did.

10. If they repeat a story, listen like it’s the first time they tell it.

11. Don’t bring up painful memories from the past.

12. Avoid side conversations in their presence.

13. Don’t belittle/criticize their opinions and thoughts.

14. Respect their age.

15. Avoid cutting them off when they speak.

Parikshit Jobanputra is Coming to Pune with his Signature Event

“Successful Parenting Workshop” for more details: Click Here 

You are reading parenting tips for busy parents to Show Your Love to your child by Parikshit Jobanputra 

16. Give them the power of leadership when they are present.

17. Avoid raising your voice at them.

18. Avoid walking in front or ahead of them.

19. Fill them with ur appreciation even when they don’t think they deserve it. (Most Imp. one)

20. Avoid putting your feet up in front of them or sitting with your back to them.

21. Don’t speak ill of them  to the point where others speak ill of them too.

22. Keep them in your prayers as much as possible.

23. Avoid seeming bored or tired of them in their presence.

24. Avoid laughing at their faults / mistakes.

25. Choose your words carefully when speaking with them.

26. Call them by names they like.

27. Make them your priority.

above anything n everything, the best parenting tips is 

Children are parents treasure and their most precious gift on this land. They must have seen the world lesser than you but they see it in a different way which you need to appreciate. Listen to them and try giving them as much time as you can. These moments are more precious than anything in this world…

Parenting is an art not a job.

Wishing you a very Successful Parenting

Parikshit Jobanputra Life Management Coach

Helpful article for parents – best parenting tips

Helpful article for parents – best parenting tips

Many Parents ask me one common question, How can we help our child to be a responsible & happy? How to reduce TV time? So Today i am sharing best parenting tips for the same. Hope this will help you ! 

I am an Author, Coach, Motivational Speaker & a Counsellor with 12 years of experience working with children, Parents, Teachers & Corporates. I am fortunate enough to touched over 1.2 million lives. Clearly, through my observation & experience here i am sharing some of the best parenting tips…  

 

  1. Successful Parenting needs Patience! “Patience is not just about waiting… it is more about how you behave with child while waiting.”
  2. Allot time to listen your child. Lend your child a listening ear and you will discover new things about your child.
  3. Avoid sharing your negative feelings with your child. Your complaints show ur sign of weakness & reduces ur self-value.
  4. coping-with-gadget-feverWeekends are when children spend the most time watching television since they have a lot of free time
    on their hands. Make it a point to plan some form of an outing with your children which involves some activity.
  5. Watching TV while eating can cause indigestion & obesity in child. So keep ur dinner before or after TV program but not together.
  6. Turn off the television when your child’s friends are over. It may be hard to limit your child’s watching TV when he alone, but it will be easy when he has a friend over.
  7. Make a similar pact with other parents, and ask them that when your child is over at their place, they should turn off the television.Best Parenting Tips by Parikshit Jobanputra
  8. Develop habit to send your child to your building garden or to the neighbourhood park in the evenings to play with other children. Rather watching TV and GAMES.
  9. Encourage your child to take part in the activities he likes and avoid forcing him. If they are interested in sports, support them to take part in sports.
  10. To get your Child to eat Healthy  eat at least one meal together everyday. This gives you a chance to serve Healthy Food. 
  11. Take time to play indoor or outdoor games with your child. All the time home work & no play makes your child a dull in study.

 

From my experience as a No:1 Coach in Parenting, i found children change the moment parents change their perspective on parenting.  Help your kids succeed in life by training and strengthening their brain sooner than later.

To watch Parenting Seminar by Parikshit Jobanputra click below link!

 

X